बड़ों को चरण स्पर्श और छोटों को प्यार

by r k lal Matrubharti Verified in Hindi Classic Stories

बड़ों को चरण स्पर्श और छोटों को प्यार आर0 के0 लाल आज रमेश के कॉलेज का वार्षिकोत्सव था पूरा ऑडिटोरियम खचाखच भरा हुआ था उसमें स्टूडेंट्स के साथ उनके पेरेंट्स ग्रैंडपेरेंट्स भी उपस्थित थे। मंच का संचालन स्वयं रमेश ...Read More