Mamta ki Pariksha - 107 by राज कुमार कांदु in Hindi Fiction Stories PDF

ममता की परीक्षा - 107

by राज कुमार कांदु Matrubharti Verified in Hindi Fiction Stories

अपनी करुण गाथा सुनाते हुए जूही एक बार फिर सिसक पड़ी थी। उसकी दास्तान सुनते हुए साधना व रमा की आँखें भी लगातार बरसती रहीं। अपनी सिसकियों पर काबू पाते हुए जूही ने आगे बताना शुरू किया, "उस दिन ...Read More