Best Book Reviews Books in Gujarati, hindi, marathi and english language read and download PDF for free

Rob Roy
by Shamad Ansari

                             VOLUME -1                      *   CHAPTER - 1  ...

साहित्य की धरोहर-दादा श्री सीता किशोर खरे
by बेदराम प्रजापति "मनमस्त"

       साहित्य की धरोहर-दादा श्री सीता किशोर खरे-                (भाव सुमन)                             वेदराम प्रजापति मनमस्त                                  डबरा(ग्वा.)म.प्र                                 मो.9981284867 सादा जीवन उच्च विचार के आदर्श की

स्‍वतंत्र सक्‍सेना के विचार-गोस्टा समीक्षा
by बेदराम प्रजापति "मनमस्त"

गोस्‍टा तथा अन्‍य कहानियां  लेखक –श्री राजनारायण बोहरे    एक पाठक की प्रतिक्रिया                                                               स्‍वतंत्र कुमार सक्‍सेना     कहानी संग्रह में बारह कहानियां हैं एक बार पढ़ना शुरू करने पर ...

वह जो नहीं कहा - समीक्षा
by Sneh Goswami

  बहुत कुछ कहता 'वह जो नहीं कहा' (लघुकथा संग्रह : स्नेह गोस्वामी )==========================================000   ॥ पूर्वकथन : नई किताबें डाक में मेरे पास बहुत आती हैं। नये और ...

મારી નજરે 'મૃત્યુંજય' - બુક રીવ્યુ
by Vijeta Maru

મહાદેવ.... મહાદેવ....   આજે હું વાત કરવાનો છું એક એવા પુસ્તકની કે જે વાંચવા માટે તમારે એકાંત જરૂરી છે. એક એવી નવલકથા કે જેના પાત્રો, જગ્યા, ઘટના બધું જ ...

अक्टूबर जंक्शन-दिव्य प्रकाश दुबे
by राज बोहरे

अक्टूबर जंक्शन उपन्यास दिव्य प्रकाश दुबे द्वारा लिखा गया चर्चित उंपन्यास “अक्टूबर जंक्शन”हिंद युग्म द्वारा प्रकाशित है। इस उपन्यास में मूल कहानी एक युवक और युवती की मित्रता की ...

बाली का बेटा - राज बोहरे
by ramgopal bhavuk

राज बोहरे- उपन्यास बाली का बेटा                                बाल मन की नजर से समीक्षा        ...

आड़ा वख्‍त -राज नारायण बोहरे
by डॉ स्वतन्त्र कुमार सक्सैना

समीक्षा       आड़ा वख्‍त उपन्‍यास                        लेखक श्री राज नारायण बोहरे उपन्‍यास ग्रामीण पृष्‍ठ भूमि पर एक किसान शिवस्‍वरूप व उनके छोटे भाई स्‍वरूप के बारे में है। शिवस्‍वरूप जिन्‍हें ...

पूनम शुक्ला- उन्हीं में पलता रहा प्रेम
by राज बोहरे

पूनम शुक्ला के सँग्रह की समीक्षा पूनम शुक्ला का कविता संग्रह " उन्हीं में पलता रहा प्रेम " आर्य प्रकाशन मंडल नई दिल्ली ने प्रकाशित किया है। इस संग्रह ...

बघेली संस्कृति और प्रेम तपस्वी
by राज बोहरे

बघेली संस्कृति और प्रेम तपस्वी राजनारायण बोहरे   रेजा (उंपन्यास) लेखक-  स्वर्ण सिंह रघुवंशी प्रकाशक-राजेश्वरी प्रकाशन गुना मूल्य-200/- रुपये   रेजा नामक उपन्यास पिछले दिनों पढ़ने को मिला। यह ...

सहसा कुछ नहीं होता-रक्षा
by राजनारायण बोहरे

 सहसा कुछ नही होता-रक्षा स्त्री पीड़ा का अधिकृत आख्यान:सहसा कुछ नही होताराजनारायण बोहरेरक्षा ऐसी कवियत्रीयों में से हैं जो परंपरागत शिल्प और काव्य आधानों पर कविता न लिखकर सर्वथा मौलिक ...