×

Stories and Books episodes in hindi PDF

तपते जेठ मे गुलमोहर जैसा - 1
by Sapna Singh
  • (18)
  • 212

वह तेज-तेज चलने की कोशिश में हैं, पर अब उन्हें महसूस होने लगा है कि, इस तरह तेज चलना उनके लिए संभव नहीं रहा! पिछले कुछ समय से ऐसा ...

‘केसरी’ फिल्म रिव्यू- सारागढी की गौरव गाथा…
by Mayur Patel
  • (16)
  • 134

वो केवल 21 थे और सामने पूरे 10000 की फौज. जीत नामूमकिन थी. लेकिन उन 21 जांबाज सिपाहीयों के हौसले बुलंद थे. इतने बुलंद की उनकी सरफरोशी इतिहास के ...

मन कस्तूरी रे - 1
by Anju Sharma
  • (26)
  • 235

सामने खुली किताब के खुले पन्ने को पलटते हुए स्वस्ति अनायास ही रुक गई! उसने एक पल ठहरकर पढ़ना शुरू किया! “प्रेम के अलावा प्रेम की कोई और इच्छा नहीं ...

वैश्या -वृतांत
by Yashvant Kothari
  • (37)
  • 1k

देह व्यापार.विवेचन इनसाइक्लोपेडिया ब्रिटानिका के अनुसार देह व्यापार का अर्थ है मुद्रा या धन या मंहगी वस्तु और षारीरिक सम्बन्धों का विनिमय। इस परिभापा में एक षर्त ये भी ...

चितकबरे बैंड का रहस्य - 4
by Sir Arthur Conan Doyle
  • (38)
  • 548

उसने अलमारी को थपथपाते हुए पूछा “ इसमें क्या है ?” “मेरे सौतेले पिता के व्यावसायिक कागज़ात ” “इसका मतलब है कि आपने उन्हें अन्दर से देखा है ?” “कुछ साल ...

मेरी जनहित याचिका - 4
by Pradeep Shrivashtava
  • (3)
  • 41

मैंने सोचा कि यह तो अकेले थी। इसने यह तो बताया ही नहीं कि मुझे दो को सर्विस देनी है। जब एक अंदर घर में थी तो गेट पर ...

पिंकी
by Asha Rautela
  • (12)
  • 83

पिंकी पिंकी टीवी पर कार्टून देख रही थी। टाॅमन एन्ड जेरी उसका फेबरेट प्रोगाम था। तभी उसकी मम्मी आई बोली,‘‘ पिंकी बेटा होमवर्क कर लो’’ मम्मी की बात सुनकर ...

वो कौन थी - 14
by SABIRKHAN
  • (45)
  • 257

  (पिछले पार्ट में हमने देखा कि जिया सुल्तान की फैमिली के साथ गुलशन को ढूंढने आबू पहुंचते हैं अब आगे)     सांझ ढल रही थी! सूरज की ...

Somewhat लव - 4
by Divangi Joshi
  • (1)
  • 76

Somewhat लव part 4थैंक यू , थैंक यू सो मच... तेरे जेसी दोस्त हो तो दुश्मन की क्या ज़रूरत ! कितनी मिन्नतों के बात मेरी लाइफ मे खुशिया आई ...