Best Hindi Stories read and download PDF for free

Airbnb
by Bharti Bhayani

Airbnbकिसी भी सफल कहानी के पीछे बहोत सारी मेहनत छीपी हुइ होती है।आज हम एक ऐसी ही सच्ची कहानी के बारे मे बात करेंगे।एक ऐसी कहानी जीसकी छोटी सी ...

एनीमल फॉर्म - 9
by Suraj Prakash

एनीमल फॉर्म जॉर्ज ऑर्वेल अनुवाद: सूरज प्रकाश (9) बॉक्सर का चिरा हुआ सुम ठीक होने में बहुत समय लग गया। विजय पर्व के समारोह समाप्त होने के अगले दिन ...

My One Sided Love - 2
by Shubham Singh

किचन से माँ की आवाज आती है” कृष उठ जा ,तेरे पापा ऑटो लेने गए हैं, कहीं तेरी ट्रैन ना निकल जाए ” कृष  माँ की आवाज सुन कर उबासी लेते ...

गीदड़-गश्त
by Deepak sharma

गीदड़-गश्त किस ने बताया था मुझे गीदड़, सियार, लोमड़ी और भेड़िये एक ही जाति के जीव जरूर हैं मगर उनमें गीदड़ की विशेषता यह है कि वह पुराने शहरों ...

जिंदगी मेरे घर आना - 10
by Rashmi Ravija

जिंदगी मेरे घर आना भाग – १० इतना मूड खराब हो गया, अपनी स्टडी टेबल पर आ यूँ ही, एक किताब खोल ली। तभी शरद ने पीछे से आँखों ...

इक समंदर मेरे अंदर - 12
by Madhu Arora

इक समंदर मेरे अंदर मधु अरोड़ा (12) वह ज़रा पारंपरिक कॉलेज था, पर वह अपने पसंद के स्कर्ट फेंक तो नहीं सकती थी। उसने वे स्कर्ट पहनना जारी रखा ...

Peacock - 3
by Swatigrover
  • 90

  “सोई  नहीं  पीकॉक   क्या सोच रही है ? “ नानी  ने प्यार से सिर  पर हाथ फेरते  हुए पूछा ।  “नानी बाबा  समझते नहीं है कि  मैं  डांस ...

शम्बूक - 9
by ramgopal bhavuk
  • 36

उपन्यास :  शम्बूक  9             रामगोपाल भावुक            6 जन चर्चा में रामकथा   इन दिनों त्रिगुणायत गाँव की चौपाल पर सभा हो रही थी। ...

अनन्या...
by Dinkal
  • 147

            अनन्या आज बहुत जल्दी में थी। उसे आज जल्दी अपने काम पे पहुंचना था। आज बाहर से कुछ सेवाभावी संस्था के लोग वहां ...

नरोत्तमदास पाण्डेय मधु जी का जीवन और व्यक्तित्व
by कृष्ण विहारी लाल पांडेय
  • 30

ऽ नरोत्तमदास पाण्डेय मधु जी का जीवन और व्यक्तित्व नरोत्तमदास पाण्डेय ’’मधु’’ बीसवीं शताब्दी के पूर्वार्द्ध में बुन्देलखण्ड के ऐसे कृती कवि हुए हैं जिन्होंने प्रभूत परिमाण में उत्कृष्ट ...

कर्म पथ पर - 80
by Ashish Kumar Trivedi
  • 75

                          कर्म पथ पर                         Chapter 80साधुओं ...

मिले जब हम तुम - 33
by Komal Talati
  • 168

. भाग - ३३               रुचि वहाँसे निकलकर सीधे देव के घर जाती है  , वह इतनी आसानी से देव और आद्रिती को एक होते नही देख सकती थी... ...

कलयुगी सीता--भाग(१)
by Saroj Verma
  • 198

बात उस समय की है, जब मैं छै-सात साल का रहा हूंगा,अब मेरी उर्म करीब चालीस साल है,वो उस समय का माहौल था,जब लोगों को शहर की हवा नहीं ...

महाकवि भवभूति - 11
by रामगोपाल तिवारी
  • 33

महाकवि भवभूति  11 भवभूति के कालप्रियनाथ्र                दुर्गा आज पहली बार पार्वतीनन्दन जी के घर जा रही थी। चित्त में द्वन्द्व चल रहा था- कहीं मेरा विवाह पार्वतीनन्दन के ...

The Last Murder - 1
by Abhilekh Dwivedi
  • 627

The Last Murder … कुछ लोग किताबें पढ़कर मर्डर करते हैं । अभिलेख द्विवेदी आपस की बातें! कितनी कहानियाँ होती हैं जो कहीं किसी की ज़िन्दगी में घट तो ...

खेमेबाज़ी से किसी लेखक का कभी भला नही हुआ - जयंती रंगनाथन का साक्षात्कार नीलिमा शर्मा
by Neelima Sharrma Nivia
  • 108

साक्षात्कारजयंती रंगनाथन    ख़ेमेबाज़ी से किसी लेखक का भला नहीं हुआ – जयंती रंगनाथनजयंती रंगनाथनजयंती रंगनाथन हिन्दी साहित्य, पत्रकारिता एवं मीडिया के लिये एक जाना-पहचाना नाम है। लगभग 3 दशकों ...

अनफॉरट्यूनेटली इन लव ( चलो फिर मिलते है) - 3
by Veena
  • 123

पूरे एक हफ्ते बाद, टोंग नीयन का मूड अभी भी पहले से भी गहरे, गहरे समुद्र में डूब गया है। उसका वी चैट खाली है।  चाहे कितने भी अभिवादन, मौसम ...

न्याय - एक अछूत लड़की की कथा(भाग 1)
by किशनलाल शर्मा
  • 93

" अरी उठना नही है क्या?कब तक खाट मे पड़ी रहेगी।चाय बन गई।अब तो उठ जा"।छमिया के बार बार आवाज  देने पर कमली उठी तो थी,लेकिन माँ के पास ...

तानाबाना - 15
by Sneh Goswami
  • 156

  तानाबाना 15   रवि की जब सगाई हुई , तब वह मुश्किल से पंद्रह साल का था और उसकी मंगेतर बारह या तेरह की रही होगी । यह ...

पके फलों का बाग़ - 6
by Prabodh Kumar Govil
  • 108

आने वाला फ़ोन मेरे एक मित्र का था जो इसी शहर में एक बड़ा डॉक्टर था। उसने कहा कि उसे अपने एक क्लीनिक के लिए एक छोटे लड़के की ...

दर्द ए इश्क - 4
by Heena katariya
  • 204

विकी रूम में नाश्ता कर रहा था तभी एयरहोस्टेस फ्रेश होकर आती हैं जिस पर विकी उसे कॉम्प्लीमेंटस देता है तो वह थैक्यू कहकर नाश्ता करने विकी साथ ही ...

तक़दीर
by Prerna
  • 189

यह कहानी है ,दो बच्चों की एक लड़का जिसका नाम सीनू था और एक लड़कीजिसका नाम जुगनू था। सीनू एक बहुत गरीब लड़का था। वो फुटपाथ पर भीख माँगता ...

उजाला ही उजाला
by Pavitra Agarwal
  • 222

उजाला ही उजाला पवित्रा अग्रवाल जैसे ही मैं अस्पताल के पास पहुंचा मि. सरीन मुझे अस्पताल के मुख्य द्वार पर ही मिल गए. उनके चहरे पर संतोष के भाव ...

मिठाई
by Anil jaiswal
  • 162

"मां, काम वाली आंटी आज भी नही आई क्या?" स्कूल से आकर बस्ता पटकते हुए मीनू ने पूछा। मां के चिड़चिड़े चेहरे और बेतरतीब किचेन को देखकर वह समझ ...

दी लॉक डाउन टेल्स :कुछ खट्टी कुछ मीठी - 1 - सौतन से छुटकारा
by RISHABH PANDEY
  • 684

दी लॉक डाउन टेल्स इसके अंतर्गत देश व्यापी लॉक डाउन के समय की कुछ कहानियों का संग्रह है।। आज की पहली कहानी सौतन से छुटकारा आपके सामने है.....एक सरकारी ...

छूना है आसमान - 7
by Goodwin Masih
  • 27

छूना है आसमान अध्याय 7 रात के करीब दस बज रहे थे। चेतना ने देखा उसके पापा अकेले बैठे लैम्प की रोषनी में अपने आॅफिस का काम कर रहे ...

आखा तीज का ब्याह - 10
by Ankita Bhargava
  • 126

आखा तीज का ब्याह (10) श्वेता का अंदाज़ा गलत नहीं था तिलक सच में बहुत परेशान था| उसने अवसादग्रस्त होकर खुदको पूरी तरह शराब में डूबा दिया था| कोई ...

दास्तानगो - 2
by Priyamvad
  • 81

दास्तानगो प्रियंवद २ राजाओं, नवाबों, सामंतों के ब्राह्मण मुंशी या दीवान उनकी जागीरों की आमदनी और खर्च का हिसाब किताब भी रखते थे। वे इन जागीरों की देखभाल या ...

स्थायित्व
by Ramnarayan Sungariya
  • 102

कहानी--                                स्थायित्व                          आर। एन। सुनगरया                   '' हॉं कमलेश मैं इतना टूट चुका हूँ ..... इसलिए ....... बस अब पथराई औखों और अक्रशील बैठे ...

30 शेड्स ऑफ बेला - 17
by Jayanti Ranganathan
  • 90

30 शेड्स ऑफ बेला (30 दिन, तीस लेखक और एक उपन्यास) Day 17by Era Tak इरा टाक मन ना भये दस-बीस बेला के मन में पद्मा को लेकर एक ...