Swabhiman - Laghukatha - 21 by Jahnavi Suman in Hindi Short Stories PDF

स्वाभिमान - लघुकथा - 21

by Jahnavi Suman Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

शामली के पतिशैलेंद्र काम के सिलसिले में अक्सर विदेश जाया करते थे, इसलिएउसने अपने बेटेसार्थक का पालन पोषणएक तरह सेअकेले ही कियाथा। शलेंद्र की रिटायरमेंट के बादवहखुश थी, कि अब परिवार एक साथ रहेगा।