Shamshan me ek raat by Devendra Prasad in Hindi Horror Stories PDF

शमशान में एक रात

by Devendra Prasad Verified icon in Hindi Horror Stories

ठंड का दिन था। सड़क पर बहुत कम लोग थे। पंकज अपने घर की तरफ़ जा रहा था। वो अभी अभी एक हॉरर फिल्म देख कर आ रहा था। शो 12 बजे रात को ख़त्म हुआ। फिल्म बहूत डरावनी ...Read More