Tum mile - 3 by Ashish Kumar Trivedi in Hindi Social Stories PDF

तुम मिले - 3

by Ashish Kumar Trivedi Matrubharti Verified in Hindi Social Stories

तुम मिले (3)कहानी सुनाते हुए मुग्धा भावुक हो गई। सुकेतु उसे ढांढस बंधाने लगा। मुग्धा बोली।"सुकेतु मैं अजीब सी स्थिति में हूँ। मैं नहीं जानती कि मैं सौरभ की पत्नी हूँ या उसकी विधवा। इस स्थिति में रहना मेरे ...Read More