Samrpan by Rakesh Kumar Pandey Sagar in Hindi Love Stories PDF

समर्पण

by Rakesh Kumar Pandey Sagar in Hindi Love Stories

प्रिय दोस्तों, प्रेम को शब्दों में परिभाषित नहीं किया जा सकता है,प्रेम केवल दो दिलों द्वारा महसूस किया जा सकता है।प्रेम अमर है, प्रेम अजर है। अपने आप को प्रेम ...Read More