Ek nind hazaar sapne by Anju Sharma in Hindi Short Stories PDF

एक नींद हज़ार सपने

by Anju Sharma Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

उस नामुराद रात का दूसरा पहर भी बीत चुका था! दिन भर की चहलकदमी और तमाशे से ऊबी गली अब चाँद के साए में झपकियां ले रही थी और दूर किसी कोने से आती किसी कुत्ते की आवाज़ पर ...Read More