इतने बूढ़े भी नहीं कि न समझे

by r k lal Verified icon in Hindi Human Science

इतने बूढ़े भी नहीं कि न समझे आर 0 के 0 लाल एक बेटे ने अपने पिता को निर्देश दिया कि उसके कुछ दोस्त आज उससे मिलने घर आ रहे हैं। जब तक उसके दोस्त ड्राइंग रूम ...Read More