Dastqne ashq - 23 by SABIRKHAN in Hindi Classic Stories PDF

दास्तान-ए-अश्क - 23

by SABIRKHAN Matrubharti Verified in Hindi Classic Stories

मौत ही इंसान की दुश्मन नहीं ज़िंदगी भी जान लेकर जाएगी - 'जोश' मलासियानी ................... .... बहुत ही अजीब बात थी उसको धिन्न हो उठी थी पुरुष जात से..! एक कांच के जैसा होता है स्त्री का ह्रदय..! और ...Read More