आई. सी. यू. में पृथ्वी

by r k lal Verified icon in Hindi Children Stories

"आई0 सी 0 यू 0 में पृथ्वी"आर 0 के0 लाल आधी रात में एक बार जब धारासार वृष्टि, बादलों की गरज, विद्युत की कौंध और झंझावात की विभिषिका अपनी पराकाष्ठा की सीमा स्पर्श कर रही थी तो दूर कहीं ...Read More