दास्तान-ए-अश्क - 30 - लास्ट पार्ट

by SABIRKHAN Matrubharti Verified in Hindi Classic Stories

कहते हैं ना मजबूरी इंसान को बहुत कुछ करवाती है जिंदगी में पहली बार उसने अपने भाइयों से मदद मांगी.. मरने से तो यह रास्ता उचित ही था l अब घर की चिंता नहीं थी मगर एक बात थी ...Read More