Aaspas se gujarate hue - 16 by Jayanti Ranganathan in Hindi Social Stories PDF

आसपास से गुजरते हुए - 16

by Jayanti Ranganathan Verified icon in Hindi Social Stories

मैं पहली बार अप्पा की पितृभूमि में आ रही थी। हरे-भरे नारियल के वृक्ष, सड़क किनारे कतार से लगे रबर के वृक्ष, नालियों जितनी चौड़ी समुद्र की शाखाएं, उन पर चलती पाल वाली नावें। मैं मंत्रमुग्ध-सी प्रकृति का यह ...Read More