rista hua atit by Rajesh Bhatnagar in Hindi Women Focused PDF

रिसता हुआ अतीत

by Rajesh Bhatnagar Matrubharti Verified in Hindi Women Focused

लाजो बेजान कदमों से चलती हुई अपना थका बोझिल शरीर लिए धम्म से कुर्सी पर बैठ गई । उसके ज़हन मं छटपटाती एक ज़ख्मी औरत चीख-चीखकर जैसे उसे धिक्कार रही थी, “क्यों बचाया तूने दीपक को ? आखिर एक ...Read More