Anjane lakshy ki yatra pe - 10 by Mirza Hafiz Baig in Hindi Adventure Stories PDF

अनजाने लक्ष्य की यात्रा पे - 10

by Mirza Hafiz Baig Verified icon in Hindi Adventure Stories

अनजाने लक्ष्य की यात्रा पे...भाग-10.जंगल, रात में सोता नहीं है “तुम्हे चेताया गया था, भागने की कोशिश मत करना।” एक डाकू बोला। वह हाथ मे धनुष-बाण लिये खड़ा था और उसका निशाना अपने बंदी यानि व्यापारी की ओर था। ...Read More