एक प्याली चाय और शौकीलाल जी - भाग-2

by Krishna manu in Hindi Humour stories

-' संबंध है। इसलिए तो मैं कह रही हूं कि यदि आप टीवी,रेडियो, अखबार आदि से नाता रखते तो चाय जैसी बेकार चीज के लिए फिजूलखर्ची करने के बारे में सोचते तक नहीं बल्कि प्रधान मंत्री राहत कोष में ...Read More