Hindi Books, Novels and Stories Free Download PDF

चन्देरी, झांसी-ओरछा और ग्वालियर की सैर
by राज बोहरे

चन्देरी, झांसी-ओरछा और ग्वालियर की सैर                                                                                               यात्रा वृत्तांत                                            आंनदपुर प्रसंग                                                                  लेखक                                           राजनारायण बोहरे               ...

अपने-अपने कारागृह
by Sudha Adesh

 अपने-अपने कारागृह' मेम साहब फोन ...।' फोन अटेंडेन्ट ने उसे फोन देते हुए कहा।'दीदी कैसी है आप? आपका मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था इसलिए लैंडलाइन पर फोन किया ...

The Second Pregnancy in Corona kaal
by my star kid

पहला भाग....मैं वानी...ये बात उस समय की है जब हम पहले  बच्चे के बारे में सोच रहे थे।लेकिन किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था।मेरा मिसकैरिज हो चुका ...

अनकहा अहसास
by Bhupendra Kuldeep

स्वर्णभूमि सोसायटी, रमा तीसरी मंजिल पर फ्लैट की बालकनी में बैठकर ऑफिस का कुछ काम निपटा रही थी। अभी-अभी सूर्योदय हुआ था। हल्की बौछार के बाद अचानक धूप के खिलने ...

परम पूज्य स्वामी हरिओम तीर्थ जी महाराज
by रामगोपाल तिवारी

परम पूज्य स्वामी हरिओम तीर्थ जी महाराज 1   एक अजनबी जो अपना सा लगा                                                  परम पूज्य स्वामी हरिओम तीर्थ जी महाराज        .                                       ...

मानस के राम
by Ashish Kumar Trivedi

मानस के राम  भूमिकाराम भारत भूमि की पहचान हैं। इस देश के कण कण में राम समाए हुए हैं। हमारे जन्म से लेकर मृत्यु तक की यात्रा में ...

360 डिग्री वाला प्रेम
by Raj Gopal S Verma

कहते हैं प्रेम का आना आपके जीवन मे पूर्व निर्धारित होता है, भले ही वह विवाहोपरांत ही हो। ऐसा प्रेम जिसे आप पूरी जिंदगी शिद्दत से जी सकें! आप ...

शोलागढ़ @ 34 किलोमीटर
by Kumar Rahman

जासूसी उपन्यास शोलागढ़ @ 34 किलोमीटर @ कुमार रहमान कॉपी राइट एक्ट के तहत जासूसी उपन्यास ‘शोलागढ़ @ 34 किलोमीटर’ के सभी सार्वाधिकार लेखक के पास सुरक्षित हैं। ...

Hostel Boyz - Hindi
by Kamal Patadiya

प्रस्तावना : 20वीं सदी की शुरुआत में हमारे जीवन का एक नया अध्याय शुरू हुआ। हॉस्टल लाइफ का अनुभव मेरे जीवन में नया था और मैं इसे लेकर बहुत ...

पुस्तक समीक्षा
by Yashvant Kothari

पागल खाना पर  पाठकीय प्रतिक्रिया  याने समय का एक नपुंसक विद्रोह                         यशवंत कोठारी राजकमल ने ज्ञान चतुर्वेदी का पागलखाना छापा है.२७१   पन्नों का  ५९५रु. का उपन्यास ओन  लाइन ...

दिल से दिल तक...
by Komal Talati

अबीर... अपनी लाइफ अपने तरीके से जीना चाहता है... बेपरवाह , मनचला, कॉलेज खत्म होने के बाद सभीको अपने फ्युचर की टेन्सन होती है... लेकिन अबीर इन ...

हीरामन कारसदेव
by राजनारायण बोहरे

मैने अनुभव किया था कि बीहड़ में हम जिस भी गाँव के पास से निकलते हरेक ज्यादातर गांवों के बाहर एक चबूतरा जरूर बना होता । कृपाराम ...

अक्षयपात्र : अनसुलझा रहस्य
by Rajnish

अक्षयपात्र : अनसुलझा रहस्य (भाग - 1) चारों तरफ दर्शक दीर्घा को देखते हुए.... विवेक बंसल: यश! कुछ भी हो, आज भी लड़कियों के बीच में तुम्हारा जादू बरकरार ...

झंझावात में चिड़िया
by Prabodh Kumar Govil

गोरा - चिट्टा, गोल - मटोल, आंखों से मुस्कराता सा खड़ा था। पड़ोस की कोठी में काम करने वाली बूढ़ी औरत बोल पड़ी - काला टीका दे दो माथे पर! - ...

29 Step To Success
by Wr.MESSI

29 step to Success ✍?Wr.MessiDedicate To...My wonderful family, My courage my mom, My coach Bajarang Gondaliya,The center point of my inspiration -My Dad & Uncle,My closest friends Milan, Sanjay, & Me...Thanks To ...

16 WAYS - Impossible To Possible
by KIRTI YADAV

       16 WAYS - Impossible To Possible                     ❁ Dedicate To ❁My Lovely familyMy Friend Pragati, Wr.Messi & Me...We All Together ...

इश्क़ 92 दा वार
by Deepak Bundela AryMoulik

वो मोहब्बत की चिंगारी 90 के दशक से सुलगना शुरू हों चुकी थी... मौसम वसंती हो कर अपने शवाब की और बढ़ रहा था.... हर यौवन के दिलों दिमांग ...

कल्पना से वास्तविकता तक।
by jagGu Parjapati ️

                कल्पना से वास्तविकता तक!! हमने किसी सुना है कि " इस संसार में जो भी हो रहा है, और जो होने वाला ...

ब्रह्मराक्षस
by Vaibhav Surolia

** ब्रह्मराक्षस - 1 **रात का समय था चारों और कोहरा ही कोहरा । दो अजनबी रात के समय मैं ब्रह्म वन से गुजर रहे थे । उन दोनों ...

इंसानियत - एक धर्म
by राज कुमार कांदु

राखी और रमेश अपनी कार में बैठे बड़ी तेजी से अपने घर की तरफ बढे जा रहे थे । शाम का धुंधलका फैलने लगा था और रमेश की कोशिश ...

ग्वालियर संभाग के कहानीकारों के लेखन में सांस्कृतिक मूल्य
by padma sharma

ग्वालियर संभाग के कहानीकारों के लेखन में सांस्कृतिक मूल्य 1डॉ. पदमा शर्मासहायक प्राध्यापक, हिन्दीशा. श्रीमंत माधवराव सिंधिया स्नातकोत्तर महाविद्यालय शिवपुरी (म0 प्र0) पुरोवाक् कहानीकार विशिष्ट प्रतिभा सम्पन्न सामाजिक प्राणी ...

तीसरे लोग
by Geetanjali Chatterjee

नर्मदा नदी के तट पर जलती चिता की लपटों का आग्नेय रंग अस्ताचल में ढलते सूरज की लालिमा में विलीन होता चला जा रहा था। फाल्गुनी के विलाप के ...

यादों के झरोखे से
by S Sinha

यादों के झरोखे से  ======  मेरे जीवनसाथी की डायरी के कुछ पन्ने  - मैट्रिक  , प्री यूनिवर्सिटी और इंजीनियरिंग में एडमिशन और चीनी आक्रमण  ==================================== 7 मई 1961 करीब ...

A Dark Night – A tale of Love, Lust and Haunt
by Sarvesh Saxena

हॉरर साझा उपन्यास A Dark Night – A tale of Love, Lust and Haunt संपादक – सर्वेश सक्सेना भाग – 1 लेखक - सर्वेश सक्सेना रात के लगभग नौ ...

त्रिखंडिता
by Dr Ranjana Jaiswal

जिंदगी राजनीति प्रेरित है और यह राजनीति सत्ता की राजनीति है, जो चारों तरफ व्याप्त है | परिवार हो या पास-पड़ोस | राज्य हो या समाज | प्रदेश हो ...

पश्चाताप.
by Ruchi Dixit

"पश्चाताप "  यह रचना मैने प्रतिलिपि पर वेवसीरीज के तौर पर लिखी थी जिसे अब बिना परिवर्तित करे मै उपन्यास की रूप मातृभारती पर देने जा रही हूँ | ...

सुलझे...अनसुलझे
by Pragati Gupta

सुलझे….अनसुलझे!!! (भूमिका) ------------------------ जब किसी अपरिचित की पीड़ा अन्तःस्थल पर अनवरत दस्तकें देने लगती हैं, तब उसकी कही-अनकही पीड़ा हमको उसके बारे में बहुत कुछ सोचने और जानने के ...

इमली की चटनी में गुड़ की मिठास
by Shivani Sharma

भाग-1 बहुत देर से शालिनी छत पर खड़ी बारिश में भीग रही थी! कहने को तो बूंदें तन पर पड़ रही थीं पर भीग उसका मन भी रहा था ...

लहराता चाँद
by Lata Tejeswar renuka

लहराता चाँद लता तेजेश्वर 'रेणुका' लहराता चाँद, (उपन्यास) सिर दर्द से फटा जा रहा था। आँखें भारी-भारी -सी लग रही थी। वह उठने की कोशिश कर रही थी पर ...

मैं भारत बोल रहा हूं-काव्य संकलन
by बेदराम प्रजापति "मनमस्त"

  (काव्य संकलन) वेदराम प्रजापति‘ मनमस्त’   1. सरस्वती बंदना (मॉं शारदे) मॉं शारदे! मृदु सार दे!!, सबके मनोरथ सार दै!!! झंकृत हो, मृदु वीणा मधुर, मॉं शारदे, वह ...

एक दुनिया अजनबी
by Pranava Bharti

ऊपर आसमान के कुछ ऐसे छितरे टुकड़े और नीचे कहीं, सपाट, कहीं गड्ढे और कहीं टीलों वाली ज़मीन | गुमसुम होते गलियारे और उनमें खो जाने को आकुल-व्याकुल मन ...

राजपुरा के जंगल ...रहस्य या कोई साजिश?
by Apoorva Singh

कहते है जहां शैतान होता है वहां भगवान भी होता है।अगर भगवान का अस्तित्व है तो शैतान का भी है।जीवन के इस सफ़र में कभी कुछ ऐसा हमारे सामने ...

The girl's life is abandoned without dreams
by navita

"The girl's life is abandoned without dreams"   "लड़की का जीवन सपनों के बिना छोड़ दिया जाता है"✍️  ?Navita ? ✍️?  Dedicated to ?My lovely family Specially my mother- in -lawMy ...

मुक्म्मल मोहब्बत
by Abha Yadav

    कहीं संवेदनाएं  जुड़ी.  कुछ महसूस हुआ.  अंदर जजबातों का धुआं घुमड़ने लगा.फिर जजबात इस कदर मचले कि एक गुबार सा फूटा.जजबात छिटके,बिखरे ,फिर जुड़ते चले गए. बनने ...

जी हाँ, मैं लेखिका हूँ
by Neerja Hemendra

सायमा का घर जैसे-जैसे समीप आता जा रहा था, उसके मन-मस्तिष्क में विचारों का प्रवाह गतिमान होता जा रहा था। रेलवे स्टेशन के बाहर आ कर उसने चारों ओर ...

मिशन सिफर
by Ramakant Sharma

विश्वभर में भारत अकेला ऐसा देश है जहां संसार के सभी धर्मों के लोग आमतौर से शांतिपूर्वक रहते आए हैं। यहां की गंगा-जमुनी संस्कृति देश-विदेश के लोगों के लिए ...

BOYS school WASHROOM
by Akash Saxena

ठक ठक ठक...ठक ठक ठक... दरवाज़े पर ज़ोर से आहट होती है,विहान!विहान...स्कूल बस आती ही होगी 7 बज चुके हैं क्या कर रहे हो,आज फिर देर करोगे क्या?विहान की ...

तुम्हारे दिल में मैं हूं?
by S Bhagyam Sharma

यह एक प्रेम कहानी है। यह कहानी भी छोटे गांव की है। लड़की छोटे गांव की है। जिसकी मां नहीं है। सौतेली मां को गीता ‘मौसी’ बुलाती है। वह ...

पृथ्वी के केंद्र तक का सफर
by Abhilekh Dwivedi

पीछे मुड़कर जब देखता हूँ अपने उस रोमांचित दिन को तो विश्वास ही नहीं होता कि मेरे साथ सच में वैसा कुछ हुआ था। वो इतना विस्मयी था कि ...

कातिल
by Monty Khandelwal

अरे सुनो काका जी आज ये  रास्ते में जाम कीस बात का लगा हे और ये सब लोग भाग - भाग कर क्यों जा रहे हैं क्या हुआ हैं ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।।
by Yashvant Kothari

इस बार महाशिवरात्री और वेलेन्टाइन-डे लगभग साथ-साथ आ गये। युवा लोगों ने वेलेन्टाइन-डे मनाया। कुछ लड़कियों ने मनाने वालों की धज्जियां उड़ा दी और बुजुर्गों व घरेलू महिलाओं ने ...

मूर्ति का रहस्य
by रामगोपाल तिवारी (भावुक)

पुराने किलांे और महलों के बारे में कई तरह की अफवाहें प्रचलित हैं, ऐसी ही एक इमारत का रोचक और रहस्यपूर्ण किस्सा आज हम आपको सुनाते हैं। ..तो हो ...

ये उन दिनों की बात है
by Misha

और देखते ही देखते जयपुर सिटी से मेट्रो सिटी हो गया बड़े बड़े मॉल्स, बिल्डिंग्स, मल्टीप्लेक्सेज इत्यादि देखते देखते खड़े हो गए हैं और यहाँ भीड़भाड़ भी बहुत हो ...

एक अनसुलझी पहेली
by Raushani Srivastava

मुम्बई वो शहर जहाँ लोग आँखों में सपने बसाएँ आते हैं। दिन की रौशनी और रात की चकाचौंध, हमेशा न इस शहर काे जिंदा रखती हैं। पर इस रौशनी ...

तानाबाना
by Sneh Goswami

 आज किसी ने पांच छह लाईन मेंं परिचय माँगा, बड़ी दुविधा में जान आ गई।भला आधी सदी की बात कुल जमा चालीस शब्दों या चार सतरों में कोई कैसे ...

कौन है वो?
by एक प्यारी सी लड़की।

   हैलो दोस्तो !     मेरी पहली कहानी में आपका स्वागत है। यह कहानी है एक लडकी की जो गांव में अपने माता-पिता के साथ रहती है। खुशी। एक प्यारी ...

संगम
by Saroj Verma

ये किसे ले आया अपने साथ?मास्टर किशनलाल ने अपने नौकर दीनू से पूछा। मालिक,हैजे से पत्नि चल बसी,ये अकेली जान कैसे रहता गांव में, कोई रिश्तेदार भी तो ऐसा भरोसेमंद ...

चार्ली चैप्लिन - मेरी आत्मकथा
by Suraj Prakash

ऊना को चार्ली चैप्लिन होने का मतलब फ्रैंक हैरीज़, चार्ली चैप्लिन के समकालीन लेखक और पत्रकार ने अपनी किताब चार्ली चैप्लिन को भेजते उस पर निम्नलिखित पंक्तियां लिखी थीं: चार्ली चैप्लिन ...

डॉ अब्दुल कलाम की जीवनी
by Mrityunjaya Dikshit

15 अक्टूबर 1931 के तमिलनाडु के रामेश्वरम में जन्मे भारतरत्न राष्ट्रपति डॉ कलाम का पूरा नाम अबुल ज़ाकिर जैनुल आबेदीन अब्दुल कलाम था अब्दुल कलाम के जीवन पर ...

Chandragupt
by Jayshankar Prasad

चन्द्रगुप्त (सन् 1931 में रचित) हिन्दी के प्रसिद्ध नाटककार जयशंकर प्रसाद का प्रमुख नाटक है। इसमें विदेशियों से भारत का संघर्ष और उस संघर्ष में भारत की विजय की ...

मंटो की कहानियां
by Saadat Hasan Manto

सआदत हसन मंटो का जन्म- 11 मई, 1912 को समराला, पंजाब में हुआ था। आप कहानीकार और लेखक थे। मंटो ने फ़िल्म और रेडियो पटकथा लेखन व पत्रकारिता भी ...

चाणक्य
by Vinay kuma singh

इतिहास के पन्नो से… ( महान व्यक्तित्व ) भारतीय राजनीति और अर्थशास्त्र के पहले विचारक - चाणक्य !

छत्रपति शिवाजी
by Mrityunjaya Dikshit

छत्रपति शिवाजी का राज्याभिषेक और उनका कुशल नेतृत्व मृत्युंजय दीक्षित महाराष्ट्र केे ही नहीं अपितु पूरे भारत के महानायक वीर छत्रपति शिवाजी महाराज। एक अत्यंत महान कुशल योद्धा और ...

Steve Jobs
by Kamini Gupta

Inspiration we get from Steve Jobs life

चरित्रहीन
by Hanif Madaar

औरत के इंसान होने के हक़ की बात करना भी उसके चरित्रहीन होने का प्रमाण घोषित हो जाता हो उस समाज में औरत की अस्मिता से जुड़े सवाल शायद ...

दीलीप कुमार
by Khushi Saifi

Filmy Duniya Ke famous actor Dilip Kumar Sahab Ki Zindagi Ke Kuch Ansune Pehlu.