Gurpreet by Pallavi Saxena in Hindi Short Stories PDF

गुरप्रीत

by Pallavi Saxena in Hindi Short Stories

धीरे-धीरे दिन हफ्ते महीने बीत चले है। अब साल खत्म होने को है। जैसे-जैसे परीक्षा का समय निकट आ रहा है, वैसे-वैसे मेरे दिल की धड़कनों में इज़ाफ़ा होता जा रहा है। बचपन से ही मुझे परीक्षा के इस ...Read More