Mukhbir - 22 by राज बोहरे in Hindi Social Stories PDF

मुख़बिर - 22

by राज बोहरे in Hindi Social Stories

मुख़बिर राजनारायण बोहरे (22) हत्या अगले दिन दिन भर की थकान मिटाने पुलिस पार्टी के लोग एक पहाड़ी के शिखर पर टांगे फैलाए लेटे थे कि दूर पेड़ों की ओट में कुछ साये से चलते-फिरते दिखें तो पायलट सैनिक ...Read More