Prem jagat by Shivraj Anand in Hindi Love Stories PDF

प्रेम-जगत

by Shivraj Anand in Hindi Love Stories

( 'प्रेम जगत 'संसार का रंगमंच है और हम सभी इस रंगमंच के पात्र।)विज्ञोकामतहैकीआदिमानवनेप्रेमकीआदिमआगकीउष्णतासेसृस्टिकीरचनाकी'आदमऔरहौवाया,मनुऔरशतरूपानेबावसंवेदनधड़कतेप्रेमभावनाकेलिएस्वर्गकेसंवेदनहितआनदंरसकोनहीअपितुजगतकेकठोरजीवनकोअपनाया| ओ-ढोलमारो,लैलामजनू,रोमिओ-जुलियर,हीर-राँझा,कीप्रेमकथायेतोयहीरेखांकितकरतीहैकीप्रेमहीजीवनकासारहै,प्रेमविहीनजगतवीरानहै|इसीप्रेमकेवशीभूत(जगतबनानेवाले)माता(प्रकृति)वपिता(पुरुष)जगतकानिर्माणकिया।अतःउन्हेंमेरासहस्त्रोबारप्रणाम!परिवारिकसुखआकाशमेंघटाओकेसदृसहोताहै|सुखउत्पन्नहोताहैपरचिरकलतकस्थिरनहीहोताउनघटाओकेसदृश हीछिपजाताहै 'वर्षोसेमेरेआँगनमेंएकअंगनानही जिससे मेरीआँगनसुनीहै।'ऐसाहीविचारकर'मनीलाल'अपनेपुत्र(मधुसूदन)कविवाहकररहेहै।असलबातमधुसूदनजब१०वर्षकाथा,तबउसकी'जन्मजननी'दुनियासेचलबसी।वहमाँकीममताकोनपासका-माँकीममताउसकेलिएआसमानकेकुसुमहोगई।' मनीलाल'मंजोलगढ़केएकईमानदारपुरुषहै।वेसबकोएकआँखसेदेखतेहै।पत्नीमृत्युकेबादउनकेआंखोंसेखूनउतरआता-हैबसयादआती...कमरतोड़जाती।बसउसीकेयादकोभुलानेऔरदुःखकेआंसुकोसुखमेंबदलनेकेलिएहीवेअपनेपुत्रकाविवाहकररहेहै।मधुसूदनकाविवाहसुमनकेसाथहोरहाहै।'सुमन'एकसजिलीलड़कीहै।वहविदितनारायणकीपुत्रीहै।'विदित नारायण'भलेवनेकइंसानहै।वेप्रेमगढ़केसकुशलव्याक्तिहैं।आखिरएकदिनमधुसूदनकीबारातप्रेमगढ़केलिएनिकलपड़तीहैऔरलोगोकीइंतजारकीघड़ियाख़त्महोजातीहै। प्रेमगढ़एक मनभावन नगर है। ,किन्तुमधुसूदनकीबारातनेउसनगरकीओरसजादियाहैउसजन-संकुलनगरमेंअतिचहल-पहलहै।मधुसूदनकेमाथपरसुन्दरसेहराहै।जिससेमधुसूदनअतिप्रसन्नचितहै।वहांकाविशदएनूरअनुपमहै।धरतीकेआसमातकशहनाइओकीध्वनिगूंजरहीहै,तारे गणआकाशमेंटिमटिमारहेहैैंमानों सबकेखुशीयों मेंझूमरहेहों।(कुछदेरबाद) पुरोहितद्वाराशिव,गौरीव गणेशजीकीपूजाकराइजारहीहै।वहींसुहागिनस्त्रियों मंगलगान ...Read More