Pata Ek Khoye Hue Khajane Ka by harshad solanki in Hindi Adventure Stories PDF

पता, एक खोये हुए खज़ाने का - 2

by harshad solanki in Hindi Adventure Stories

"क्या बात है? तुम्हारी पापा के साथ बात हो रही थी तब मैं वहीँ बैठी हुई थी! तुम्हारी बात सुनकर पापा गभरा गए थे. ऐसी क्या बात हो गई?""ओह! जेसिका. अच्छा हुआ जो तुमने मेसेज छोड़ा. अब फ्री हो ...Read More