Do balti pani - 13 by Sarvesh Saxena in Hindi Humour stories PDF

दो बाल्टी पानी - 13

by Sarvesh Saxena Matrubharti Verified in Hindi Humour stories

करीब घंटे भर बाद मिश्राइन और वर्माइन का नंबर आया, दोनों ने अपनी-अपनी बाल्टी भरी और मुंह लटकाए घर की ओर चली आईं |मिश्राइन(घूंघट को नीचे की ओर खिंचते हुए) -" गांव के मर्दों को तो जैसे कोई लाज ...Read More