Yun hi raah chalte chalte - 3 by Alka Pramod in Hindi Travel stories PDF

यूँ ही राह चलते चलते - 3

by Alka Pramod Matrubharti Verified in Hindi Travel stories

यूँ ही राह चलते चलते -3- आज से तीन दिनों तक सबको क्रूस (पानी के जहाज ) का आनन्द उठाना था । क्रूस उनकी प्रतीक्षा में पलकें बिछाए, सागर तट के पाइरियास पोर्ट पर प्रहरी सा तना खड़ा था। ...Read More