एक मध्यम वर्गीय आदमी

by Ganesh in Hindi Short Stories

इस नॉवेल के टाइटल से ही पता चलता है, जो भी है वो मध्यम है, ना कम ना ज्यादा। सच बताऊं तो हम जैसे मध्यम वर्गीय आदमियों की कहानी यहीं है। अरे हमारी तो जरुरते, शोख, और पगार भी ...Read More