वीर शिरोमणिः महाराणा प्रताप। (भाग-(३)

by Manish Kumar Singh in Hindi Poems

चित्तौड़ दुर्ग जीता अकबर, राणा के चक्षु हुये थे सुर्ख।उदयसिंह के हाथों फिसला,धोखे से रणथंभौर दुर्ग।।सुरजन ने पीठ छुरा भोंका, गढ़ सौंपा जाकर अकबर को।तलवार नहीं पकड़ी उसने, लड़ने न दिया था लश्कर को ।।पुनः नये साहस से राणा ...Read More