Seeta - Ek naari - 1 by Pratap Narayan Singh in Hindi Poems PDF

सीता: एक नारी - 1

by Pratap Narayan Singh in Hindi Poems

सीता: एक नारी ॥ प्रथम सर्ग॥ गाथा पुरानी है बहुत, सब लोग इसको जानते वाल्मीकि ऋषि की लेखनी के तेज को सब मानते है विदित सबको राम सिय काचरित-रामायणकथा वर्णित हुआमद, मोह, ईर्ष्या, त्याग, तप, दारुण व्यथा अनुपम कथा ...Read More