फ्रैंड रिक्वैस्ट

by Pratibha in Hindi Social Stories

फ्रैंड रिक्वैस्ट मन पर दस्तक हुई .. मैंने धीरे से कपाट खोले .. गर्दन बाहर निकाली.. सामने देखा, इधर - उधर झाँका .. | कोई नहीं था .. माने प्रत्यक्ष कोई नहीं था ..पर कुछ अनुभव हो रहा था ...Read More