intzaar dusra - 2 by किशनलाल शर्मा in Hindi Love Stories PDF

इंतजार दूसरा - 2

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

"तभी तुम बेलगाम घोड़ी की तरह इधर उधर घूमती फिरती हो"।"क्या मतलब?"दामोदर की बात सुनकर माया को गुस्सा आ गया,"तुम मुझ पर लाछंन लगा रहे हो?""मेंरे कहने का आशय वो नही है,जो तुम समझ रही हो?"माया का उग्र ...Read More