Neela Rumaal by Abha Yadav in Hindi Short Stories PDF

नीला रूमाल

by Abha Yadav in Hindi Short Stories

"अब,कैसी हो?" एक अजनबी आवाज सुनकर मैंने आवाज की तरफ अपनी गर्दन घुमानी चाही तो मेरे होठों से एक दर्द भरी सिसकारी निकल गई."बहुत दर्द हो रहा है?" अपने ऊपर एक पुलिस वाले को झुका देखकर मैं घबरा गई."आप...आप..कौन..?"मैं ...Read More