Dost ki jubani by महेश रौतेला in Hindi Adventure Stories PDF

दोस्त की जुबानी

by महेश रौतेला in Hindi Adventure Stories

दोस्त की जुबानी:बचपन में एक बार हल चलाने का शौक हुआ।अतः सुबह उठकर हाथ मुँह धो, बैलों को खेत में ले गया।वातावरण खुशनुमा था।घराट पर दो लोग आ चुके थे। खेत के पास बांज के दो पेड़, हिसालु की ...Read More