हास्य कहानी : पॉकेट रेडियो -छोटी उम्र की खुराफात का एक नमूना

by Swapnil Srivastava Ishhoo in Hindi Humour stories

पिछले पंद्रह मिनट से हम तीन फिट की दीवार पर कान पकड़े खड़े थे और माता जी गुस्से से हाथ में हमारा ही प्लास्टिक का बैट लिए इंतजार कर रहीं थी कि ज़रा हिले तो दो चार लगा दें| ...Read More