Dushare ka mela by Kalyan Singh in Hindi Short Stories PDF

दशहरे का मेला

by Kalyan Singh in Hindi Short Stories

मनुष्य की इंसानियत भी उस दिन जाग उठती है। जिस दिन उसे अपने कर्मों का ज्ञान हो जाता है। बस कोई सच्चा गुरु होना चाहिए सही पथ दिखाने वाला या कोई ऐसी घटना घटित हो जो उसकी इंसानियत पर ...Read More