suratiya - 1 by vandana A dubey in Hindi Social Stories PDF

सुरतिया - 1

by vandana A dubey Matrubharti Verified in Hindi Social Stories

’नमस्ते बाउजी. कैसे हैं?’बाहर बरामदे में बैठे बाउजी यानी रामस्वरूप शर्मा जी, सुधीर के दोस्त आलोक के इस सम्बोधन और उसके पैर छूने के उपक्रम से गदगद हो गये.’ठीक ही हूं बेटा. अब बुढ़ापे में और कैसा होना है? ...Read More