love Vs ego by @njali in Hindi Love Stories PDF

love Vs ego

by @njali in Hindi Love Stories

बस एक बार पलट जाओबस एक बार लौट आओमै भी मान लू गलतियों कोबस तुम लौट आओ!!बस तुम लौट आओ!!(साहब .....साहब गेट खोल दो)हां आ रहा हूं ........ ( रोहन)बस थोड़ा सा थका हुआ रूम के सारे कपड़े एक ...Read More