AATMKATHY SHELI ME BHAVBHUTI by रामगोपाल तिवारी in Hindi Mythological Stories PDF

आत्मकथ्य शैली में भवभूति

by रामगोपाल तिवारी Matrubharti Verified in Hindi Mythological Stories

आत्मकथ्य शैली में भवभूति भवभूति का पदमपुर (विदर्भ) से प्रस्थान मैं भवभूति............ के नाम से आज सर्वत्र प्रसिद्ध हो गया हूँ। मेरे दादाजी भटट गोपाल इसी तरह सम्पूर्ण विदर्भ प्रान्त में अपनी विद्वता के लिये जाने जाते ...Read More