तुम्हारे दिल में मैं हूं? - 15

by S Bhagyam Sharma Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

अध्याय 15 सुबह 3:30 बजे के करीब ताई अपने दो लठैत के साथ कार से आकर उतरी। उन लोगों का इंतजार करते हुए रितिका जाग रही थी, जल्दी जल्दी उठी। "आओ.. दीदी बरामदे में आकर बैठो...." "बैठने की फुर्सत ...Read More