Me and my feeling - 26 by Darshita Babubhai Shah in Hindi Poems PDF

मे और मेरे अहसास - 26

by Darshita Babubhai Shah Matrubharti Verified in Hindi Poems

दिल की सजावत हो तुम lआँखों की चमक हो तुम ll हाल दिल का कौन समझेगा lबातों की जान हो तुम ll ******************************************* एक रोज़ रंग लाएगी फ़ाक़ा मस्ती अपनी lएक रोज़ गिनती होगी दिवानों मे अपनी ll ...Read More