Agonizing heart (part - 2) by किशनलाल शर्मा in Hindi Adventure Stories PDF

तड़पता दिल (पार्ट - 2)

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Adventure Stories

वे दोनों साथ खाते पीते।समय गुज़रने के साथ उनके सम्बन्ध प्रगाढ होने लगे।राजन,नज़मा को चाहने लगा।प्यार करने लगा।एक दिन वे पार्क के एकांत कोने मे बैठे बाटे कर रहे थे।राजन,नज़मा का हाथ अपने हाथ मे लेते हुए बोला,"नज़मा आई ...Read More