Tharki - sing Mukesh by राजीव तनेजा in Hindi Book Reviews PDF

ठरकी- मुकेश गाते

by राजीव तनेजा Matrubharti Verified in Hindi Book Reviews

ज़्यादातर कहानियों के प्लॉट..किस्से या किरदार हमारे ही आसपास के माहौल में..हमारे ही इर्दगिर्द जाने कब से बिखरे पड़े होते हैं मगर हमें उनका पता तक नहीं चलता। उन्हें तब तक अहमियत नहीं मिलती जब तक वो कहानी..किस्सा या ...Read More