Vivek you tolerated a lot! - 10 by S Bhagyam Sharma in Hindi Detective stories PDF

विवेक तुमने बहुत सहन किया बस! - 10

by S Bhagyam Sharma Matrubharti Verified in Hindi Detective stories

अध्याय 10 तिरुचिरंमंपलम घबराकर डॉक्टर के हाथ को पकड़ लिया। "डा.... डॉक्टर ! आप क्या कह रहे हैं ? मेरे बेटे पोरको क्या हुआ है?" डॉ अमरदीप, अपने हाथ में जो स्कैन रिपोर्ट थी उसको दोबारा फ्रीक से देख ...Read More