Of life by Missamittal in Hindi Short Stories PDF

डोर ज़िंदगी की

by Missamittal Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

दो आंखें लगातार छोटे से शीशे के दूसरी तरफ बेड पर पड़ी औरत को देख रही थी और मैं उन आंखों को देख रहा था आंखों में डर फिक्र चिंता वह सब कुछ था जो 15 साल के बच्चे ...Read More