पावन ग्रंथ - भगवद्गीता की शिक्षा - 3

by Asha Saraswat Matrubharti Verified in Hindi Mythological Stories

अध्याय दो- ब्रह्मज्ञान अनुभव— दादी जी,अगर अर्जुन के हृदय में उन सबके लिए, जिन्हें युद्ध में मारना था,इतनी करुणा भरी थी,तो वह कैसे रणक्षेत्र में युद्ध कर सकते थे? दादी जी— बिलकुल यही तो अर्जुन ने ...Read More