lok aur sanskruti by कृष्ण विहारी लाल पांडेय in Hindi Human Science PDF

लोक और संस्कृति

by कृष्ण विहारी लाल पांडेय Matrubharti Verified in Hindi Human Science

'लोक' और 'संस्कृति' शब्द कोषतः चाहे.. कितना व्यापक अर्थ रखते हों, किंतु आज परस्पर सन्निधि में सामान्यतः आशय विशेष में रूढ़ है । लोक संस्कृति के स्वरूप को संकुचित परिधि से मुक्त करके व्यापक तो प्रदान करने के मोह ...Read More