योग और जीवन - योग से प्रारम्भ कर प्रथम पहर

by Archana Singh in Hindi Poems

योग से प्रारम्भ कर प्रथम पहर (कविता)योग को शामिल कर जीवन मेंस्वस्थ शरीर की कामना कर।जीने की कला छुपी है इसमें,चित प्रसन्न होता है योग कर।घर ,पाठशाला या चाहे हो दफ्तरयोग से प्रारम्भ कर प्रथम पहर। शिशु, ...Read More