Raat - 8 by Keval Makvana in Hindi Horror Stories PDF

रात - 8

by Keval Makvana Matrubharti Verified in Hindi Horror Stories

रात के तीन बजे थे। पूरी हवेली में अंधेरे का साम्राज्य छाया हुआ था। जमीन पर एक छोटी सी पिन भी गिरे तो आवाज आए, इतनी शांति थी। सभी अपने-अपने कमरों में सो रहे थे। अचानक हवेली में किसी ...Read More