pinak by Rajeev Kumar in Hindi Adventure Stories PDF

पिनाक

by Rajeev Kumar in Hindi Adventure Stories

दिसंबर की भयंकर सर्दियां पड़ रही थी। २० दिसंबर की सुबह वातावरण में अन्य दिनों की भांति बहुत ज्यादा सर्दी थी और कोहरा भी घना था।रुस्तम भाई का नियम था कि वह सुबह छः बजे अपना बिस्तर छोड़ देते ...Read More