जीवन ऊट पटाँगा - 13 - गांधी जी की स्मृति में

by Neelam Kulshreshtha Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

"बस इतनी सी बात के लिए परेशान हो ? तुम उसे पकड़ लेना, वो मेरे पास गांधीवादी झोला लटकाये आता रहता है. तुमने मेरे ऑफ़िस में उसे देखा तो है। " "कौन सा आदमी ?" "वही मरियल सी शक्ल ...Read More