Rewind ज़िंदगी - Chapter-5.4:  प्यार एवं जुदाई

by Anil Patel_Bunny Matrubharti Verified in English Love Stories

Continues from the previous chapter…Chapter-5.4: प्यार एवं जुदाईजब तक कीर्ति का जवाब ना आ जाए तब तक उसको ये बेचैनी सहन करनी ही थी। कहते है सब्र का फल मीठा होता है, पर माधव से अब और सब्र नहीं ...Read More