Barso re megha-megha - 2 by sangeeta sethi in Hindi Short Stories PDF

बरसो रे मेघा-मेघा - 2

by sangeeta sethi Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

भाग दो रिमझिम गिरे सावन नीले साफ़ आसमान में बादल आते तो आसमान को तो गहरे रंग में रंगते ही, धरती पर भी धुंधलका फैला देते | बादलों को धैर्य ही नहीं होता कि कौन आगे चले | उनकी ...Read More